एक बुन्देलीै रचना

एक बुन्देलीै रचना

मुठिया हर को पकर के देखो ,

तनक किसानी कर के देखो !

चार कोष स्कूल हों जाने ,

लरका तनक पढ़ा के देखो !

नदियाँ नरबा बीच गैल में ,

बिना नाव के उतर के देखो !

बिटिया जा पढ़ लिख ने पाई ,

ये को ब्याह रचा के देखो !

धुतियाँ फट गई घरबारी की ,

मोल भाव बाजारी देखो !

क्वांर लगो बीमारी आई ,

तनक दवाई करा के देखो. !

बिना रुपैया. दयें पटवारी ,

खसरा वी वन पा के देखो !

राहत चैक जे कहाँ चले गए !

तहसीलदार से पूँछ के देखो !

Add a comment

HTML code is displayed as text and web addresses are automatically converted.

Add ping

Trackback URL : http://www.myfunlibrary.com/index.php?trackback/502

Page top


Vote For MyFunLibrary.Com
on Anime Sites and Forums

at Top Site List Planet

Click To Alot Of Fun And Earn More Money with fun