कोई वादा ना कर, कोई इरादा ना कर;........ और जिन्दगी की हर शाम कुछ तर्जुबे देके जाती है

कोई वादा ना कर,

कोई इरादा ना कर;

ख्वाहिशों में खुद को आधा ना कर;

ये देगी उतना ही जितना लिख दिया

खुदा ने;

इस तकदीर से उम्मीद ज़्यादा ना कर।।

जिन्दगी की हर सुबह

कुछ शर्ते लेके आती है।

और जिन्दगी की हर शाम

कुछ तर्जुबे देके जाती है

Add a comment

HTML code is displayed as text and web addresses are automatically converted.

Add ping

Trackback URL : http://www.myfunlibrary.com/index.php?trackback/507

Page top


Vote For MyFunLibrary.Com
on Anime Sites and Forums

at Top Site List Planet

Click To Alot Of Fun And Earn More Money with fun